10वां सिविल सेवा दिवस, विज्ञान भवन में समारोह

By: Deepa, 2016-04-21 09:30:00.0Category:  आयोजन
News Image

हर साल 21 अप्रैल को सिविल सर्विसेज डे के रूप में मनाया जाता है |  ये दिन मानाने का प्रमुख उद्देश्य ये है कि सिविल सर्विसेज के अधिकारी अपनी सभी कर्तव्योँ का पुनर्निरीक्षण करें और  अपने को पुनः याद दिलाएं की यह पद उन्हें क्यों और किन कार्यों को वहन करने के लिए प्रदान किया गया है| हर साल 21  अप्रैल को ही सिविल सर्विसेज डे मनाने का कारण ये है की आज के दिन यानि 21 अप्रैल को ही सरदार वल्लभ भाई पटेल ने सिविल सर्वेन्ट्स के पहले बैच को मेटकॉफ़  हाउस में सम्बोधित किया था |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10वें सिविल सेवा दिवस के अवसर पर दिल्ली के विज्ञान भवन में विभिन्न सरकारी योजनाओं को लागू करने के लिए सिविल सेवा पुरस्कार प्रदान किए। इस अवसर पर मोदी जी ने अधिकारीयों को सम्बोधित करते हुए कहा की सरकार द्वारा शुरू की जाने वाली सभी योजनाओं को जन आंदोलन का रूप देना होगा | अधिकारीयों को बिना थके हुए ये सब कार्य संपन्न  करने होंगे  क्यूंकि अधिकारियों की मानसिक थकान व्यवस्था को ऊर्जाहीन बनाती है| साथ ही उन्होंने ये भी कहा की  राज्यों के बीच स्वस्थ्य  प्रतिस्पर्धा होनी चाहिए। नरेन्द्र मोदी ने नौकरशाहों से आह्वान किया कि वे 20वीं सदी की जकड़न भरी सोच से मुक्त होकर देशवासियों की सेवा करें| साथ ही  अधिकारीयों को समय समय पर अपने काम करने की शैली में परिवर्तन करते रहने कि सलाह भी दी | मोदी ने कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा में चयनित लोगों को सवा सौ करोड़ लोगों के भाग्य को बदलने का सुअवसर मिला है, अगर उनमें कुछ कर दिखाने का इरादा नहीं हो तो यह मौका किस काम का | उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक भावना के अनुरूप वैश्विक स्पर्धा के कारण भारत में लोगों की अपेक्षायें बढ़ीं हैं और उससे आगे बढ़ने का एक माहौल बना है| अधिकारीयों को बदलाव का वाहक बनते हुए मोदी जी देखना चाहते हैं | उन्होंने अधिकारीयों को उत्कृष्ट सेवा का मंत्र दिया "सुधार से प्रदर्शन ,प्रदर्शन से परिवर्त्तन" ("Reform to Perform to Transform")

इस वर्ष प्राथमिकता वाले चार कार्यक्रमों के अंतर्गत कुल 10 जिलों को प्रधानमंत्री ने पुरस्कार से सम्मानित किया। प्रधानमंत्री जन धन योजना, स्वच्छ भारत मिशन , स्वच्छ विद्यालय तथा मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना जैसे सरकार के प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों को लागू करने के लिए सरकारी अधिकारियों को यह पुरस्कार दिया गया है। चंडीगढ़ को प्रधानमंत्री जन धन योजना, बीकानेर, सिक्किम और दादरा एवं नगर हवेली को स्वच्छ भारत अभियान के लिए पुरस्कार दिया गया।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह, कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा, नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत, सचिव (प्रशासनिक सुधार एवं जनशिकायत) देवेन्द्र चौधरी मौजूद थे | 

होकलवायर असाइनमेंट

    Similar News