IVF के द्वारा 72 साल की उम्र में माँ बनने का सपना किया पूरा

By: Deepa, 2016-05-10 09:42:45.0Category:  जागरूकता
News Image

माँ बनना हर औरत का सपना होता है लेकिन 72 साल की दलजिंदर कौर को इस सपने को सच करने में 46 साल लग गए , और उनका ये सपने को पूरा करने में  में मदद की (IVF-test tube) तकनीक ने जिसकी मदद से उनकी माँ बनने की इच्छा पूरी हुई है | इनके पति मोहिंदर सिंह गिल अपनी पत्नी के साथ 2013 से लगातार अमृतसर (पंजाब ) से हिसार (हरियाणा) तक यात्रा कर रहे हैं ताकि उनकी पत्नी का IVF ट्रीटमेंट पूरा हो सके | लेकिन यहाँ भी उन्हें आसानी से सफलता नहीं मिली|

दो बार की IVF ट्रीटमेंट की प्रक्रिया फेल होने के बाद तीसरी बार डॉक्टर्स को सफलता मिली और दलजिंदर कौर पिछले साल जुलाई में गर्भवती हो गईं और इस साल 19 अप्रैल को उन्होंने अपने बेटे को जनम दिया और इस ख़ुशी के लिए दलजिंदर कौर डॉ. अनुराग बिश्नोई जो कि नेशनल फर्टिलिटी और टेस्ट ट्यूब  बेबी सेंटर में एम्ब्रोलॉजिस्ट हैं का धन्यबाद करती हैं |

इस सेंटर में इससे  पहले भी इस तकनीक के द्वारा अन्य वृद्ध महिलाओं को  माँ बनने का सुख मिल चुका है | डॉ  बिश्नोई कहते हैं कि "उनके सेंटर को ऐसे मामलों कई बार सफलता मिली है  जहां उम्रदराज़ औरतें माँ बनी है पर हर बार ऐसा नहीं होता है इससे पहले उनका पूरा चेक अप किया जाता है ,दलजिंदर कौर के मामले में  भी उनका पूरा चेक अप किया गया क्यूंकि वो देखने में काफी कमजोर थी, पर चेक अप करने के बाद वो पूर्ण रूप से स्वस्थ्य निकली और उनकी सारी मेडिकल रिपोर्ट नार्मल निकली |"

डॉ बिश्नोई ने बताया कि इतने सालों तक दलजिंदर जी के माँ न बनने कि वजह उनकी फेलोपियन ट्यूब्स का ब्लॉक होना था, अगर इसका इलाज़ वक़्त पे हो जाता तो उन्हें इतने सालों तक माँ बनने के लिए इंतज़ार नहीं करना पड़ता | दलजिंदर के पति का कहना है कि उन्हें इस बात कि जानकारी नहीं थी और कुछ पारिवारिक कलह और मुकदमेबाजी के चक्कर में वे दोनों इतने फंसे हुए थे कि इस बात कि और कभी ध्यान नहीं गया| पिछले कुछ वक़्त से उनके जीवन में जब सब ठीक हो गया तो एक अखबार में IVF तकनीक वाले  विज्ञापन ने उन्हें माता पिता बनने के सपने को फिर से जगा दिया और अब वे माता पिता बनने के बाद काफी खुश हैं |

 
 

होकलवायर असाइनमेंट

    Similar News